Home[Some ACCESSORY Info]

[PDF] The Immortals of Meluha download in pdf

The Immortals of Meluha by amish - www.biohindi.com
The Immortals of Meluha by Amish

Book Overview [The Immortals of Meluha] :


The Immortals of Meluha(मेलुहा के मृत्युंजय) अमिश त्रिपाठी की भगवान् शिव पर आधारित पहली किताब हैं | जिसके  अंतर्गत उन्होंने देवों के देव महादेव शिव के वास्तविक रूप को बहुत ही बेहतरीन ढंग से प्रस्तुत करने कि कोशिस की हैं |

The Immortals of Meluha पुस्तक में उन्होंने भगवान् शिव  कि एक अलग ही छवी प्रस्तुत की हैं | इस पुस्तक को पढ़ने पर पता चलता हैं कि उन्होंने अपनी कल्पना को बहुत ही खुबसूरत ढंग से वास्तविकता के  साथ जोड़ने का प्रयत्न किया हैं |

इस कोशिस को लोंगो ने भी काफी सराहा | वैसे तो युवा ऐसी किताबों को पढ़ने में ज्यादा रूचि नहीं दिखाते परन्तु युवाओं के बीच The Immortals of Meluha काफी ज्यादा पोपुलर हैं | अगर आप इस पुस्तक पढ़ना चाहते है तो नीचे देये गए लिंक पर  जाकर इसे ख़रीद या  डाउनलोड कर सकतें हैं |


Book Specification [The Immortals of Meluha]


Author  Amish Tripathi
Cover artist  Rashmi Pusalkar
Country  India
Language English
Series  Shiva trilogy
Subject  Shiva, Myth, Fantasy
Publisher  Westland Press
Publication date February 2010
Pages 390
Followed by  The Secret of the Nagas

About Author [The Immortals of Meluha]


amish tripathi - www.biohindi.com
Amish Tripathi

Amish Tripathi एक बेहद ही पोपुलर भारतीय लेख़क हैं | जिनकी द्वारा लिखी गई सभी उपन्यासों की लघभग 4 मिलियन से ज्यादा कॉपीयां बिक चुकी हैं |

Shiva Trilogy और Ram Chandra Series के अंतर्गत उन्होंने कई क़िताबे जैसे – The Immortals of Meluha,
The Secret of the Nagas, The Oath of the Vayuputras, Scion of Ikshvaku और Sita: Warrior of Mithila लिखीं हैं |

वैसे तो धर्मिक किताबों को पढ़ने में यूवाओं का रुझान कम ही देखा गया हैं | परन्तु अमिश के द्वारा लिखीं गई लघभग सभी उपन्यासों को पढ़ना, आज के यंग-जनरेशन को काफी पसंद आ रहा हैं |

लोग उनके लिखे उपन्यासों को पढ़ना कितना पसंद करते हैं | इस बात का अंदाजा आप बस इस बात से लगा सकते हैं कि The Shiva Trilogy और Ram Chandra Series के अंतर्गत जितने भी उपन्यास आए सभी Fastest Selling Books में से एक रही |

भारतीय प्रकाशन इतिहास में भी ऐसा पहली बार हुआ था कि, किसी धर्म से संबंधित उपन्यास लोंगों को इतना ज्यादा पसंद आया और जिसमे युवाओं की संख्या सबसे ज्यादा रही |

उनकी लिखी उपन्यासों का अब तक 16 भाषाओ में अनुवाद भी हो चूका हैं | जिसमें – हिंदी, तमिल, तेलुगु, बंगाली, गुजरती, असामीज, मलयालम, ओड़िया, मराठी, कनाडा, इस्टोनियन, स्पेनिश, पुर्तगाली, इंडोनेशियन, पोलिश, क्रेच आदि शामिल हैं |

2010 में एक आर्टिकल छपा था जिसके अनुसार, अमिश के छपे 6 उपन्यासों कि लगभग 40 लाख से ज्यादा प्रतियाँ  बिकी थी | और जब उनकी बिकी उपन्यासों का Gross Retail Sales आँका गया तो वो 120 करोड़ के पार हो चूका था |

Read Full Biography on Amish Tripathi{Click Here}


Book Synopsys & Summary [The Immortals of Meluha]


The-Immortals-of-Meluha

ये कहानी प्राचीन ग्रीक राष्ट्रीय महाकाव्यों में से एक जिसके नायक हैं शिव | जो कि एक महान परन्तु बहुत ही सामान्य लीडर हैं |

परन्तु कुछ समय से उन्हें अपने ही संजातीय पड़ोसियों से बार-बार युद्ध लड़ना पड रहा हैं | जिसके कारन उन्होंने अपने सम्राज्य (somewhere in Tibet) से मेलुहा (Somewhere in Sindh) कि ओर जाने का निश्चय किया | ताकि उन्हें और उनके लोंगो को वंहा आश्रय और सुरक्षा दोनों प्राप्त हो सके |

अपनी ही संजातीय पड़ोसियों से लड़ाई का कारन राज्य की पैतृक वयवस्था बताई जा रही थी | मेलुहा पहुचने के उपरांत लार्ड शिव की मुलाकात पहली बार नंदी से होती हैं |

वैसे तो नंदी शिवा का बहुत बड़ा भक्त था, परन्तु शिव मेलुहा के नहीं होने के कारन उनकी मदद कर पाने में असमर्थ थें |

इस पर शिव ने मेलुहा के लीडर से कहा कि अगर वो उनकी लोगों की बारबेरियन से रक्षा करने का आश्वासन देते हैं तो उन्हें यंहा से निकलने का सुरक्षित मार्ग बताएँगे |

बस कहानी यहीं से आगे बढती हैं और Suryavanshi और Chandravanshi के साथ-साथ कहानी में Lord Rama का भी किरदार आता हैं जो आपको पुस्तक पढ़ने के उपरांत ही पता चलेगा |


Response From Critics:


The Immortals of Meluha किताब को क्रिटिक का मिला-जुला समर्थन मिला | कुछ ने इस अच्छा कहा कुछ ने ये कहा कि ये हामारी पुरानी धरोहर से छेड़-छाड़ करने जैसा हैं |

Critics Pradip Bhattacharya-
The Statesman के प्रदीप भट्टाचार्य ने इस किताब के बारे में कहा कि – भले ही इस किताब की नीव कहीं से रखी गई हो परन्तु पाठकों का ध्यान आकर्षित करने में ये कामयाब हैं |

Critics Gaurav Vasudev-
The Statesman के ही गौरव वासुदेव ने The Immortals of Meluha के लिए अपनी राय देते हुए कही कि -mythological स्टोरी को मॉडर्न तरीके से लिखना और पाठकों को इसे पढ़ने के लिए आकर्षित करना वाकई कमाल की बात हैं |

Critics Devdutt Pattanaik-
The Tribune के देवदत्त पट्टनायक ने भी कहा कि – शिवा के भयावह जर्नी को बहुत ही सरल रूप में प्रकट करना और कहानी के सभी पात्रों को समान रूप से अहमियत देना वाकई बहुत अच्छी बात हैं |


Buy and Download [The Immortals of Meluha]


अगर इस किताब को आप पढ़ना चाहते हैं, तो  आप  इसे  Amazon और FlipKart से आसानी से खरीद सकते हैं |

Buy The Immortals of Meluha from Amazon 

Buy  The Immortals of Meluha from Flipkart[click here]

जो लोग इस पुस्तक को पढ़ना चाहतें है परन्तु इसे खरीदने में असमर्थ हैं | उन पाठकों के लिए The Immortals of Meluha किताब को मैं PDF में उपलब्ध करा रहा हूँ |

click here to Download The Immortals of Meluha in pdf

इस पुस्तक को पढ़ने के बाद कमेंट के जरिए आप जरूर बताए कि ये किताब आपको कैसी लगी |

Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share
Tweet
Share
Pin
Close Bitnami banner
Bitnami